घुटने का दर्द

घुटने का दर्द

घुटने का दर्द

घुठने का दर्द आदमी को किसी भी उम्र में हो सकता है। इससे बूढे और जवान दोनों समान रूप से प्रभावित हो सकतें है। जवानों में चोट घुटने की एक खास वजह होती है और बूढों में अर्थराइटिस इंजयूरी घुटने के दर्द का कारण बनता है। घुठने के दर्द के साधारण कारणों को खुद के सावधानी और उपचार से दूर किया जा सकता है।
कारण

घुटने के दर्द के बहुत से कारण हो सकते हैं जिनमें प्रमुख रूप से निम्नलिखित कारण हो सकते है;

लिगमेंट इंज्यूरी: लिगमेंट इंज्यूरी अकसर खेल के गतिविधियों के दौरान होती है और घुटने के दर्द और परेषानी का कारण बन जाता है। घुटने के दर्द का कारण घुटने के इंटेरियर क्रुसिएट लिगमेंट ख्एसीएल, पोस्टेरियर क्रुसिएट लिगमेंट ,पीसीएल और  मेडिकल क्रूसिएट लिगमेंट इंज्यूरी भी हो सकता है। 
अर्थराइटिस:  बूढों के घुटने में दर्द का सबसे बड़ा कारण यही होता है। सामान्य अर्थराइटिस के साथ रूमेंटॉयड अर्थराइटिस, ओस्टियोअर्थराइटिस और गठिया भी हो सकता है। 
बेकर्स काइस्ट: घुटने  के अन्दर का फलुइड कम होने से भी घुटने में दर्द हो सकता है 
बरसाइटिस: घुटने में चोट, ज्यादा भाग–दौड़ के कारण घुटने पर पड़ने वाले जोर के कारण घुटने के आस–पास के बरसा में सूजन होने से भी घुटने में दर्द हो सकता है। 
ल्यूपस जैसे कनक्टिव टिश्‍यू के अस्त–व्यस्त होने से भी दर्द हो सकता है। 
घुटने के ढक्कन का अपने स्थान से हट जाने पर 
 घुटने में संक्रमण होने पर 
घुठने में मोच, टेनडिनाइटिस, और टॉर्न कार्टलिज जैसी इंज्यूरी होना 

लक्षण

इसमे लक्षण दर्द के पीछे होने वाले कारणों पर निर्भर करता है। घुटने के सामान्य दर्द का लक्षण निम्नलिखित हो सकता है;

लिगमेंट इंज्यूरी : एक बुंद लिगमेंट का भी नुकसान हो जाने पर घुटने में दर्द हो सकता है। 
अचानक उठने वाला दर्द जो चलना फिरना और घुठने का मोड़ना भी मुश्‍किल कर देता हो 
घुटने से निकलने वाला आवाज 
प्रभावित घुठने से वनज उठाने में परेशानी होना 

घुठने के छिटकने जैसा प्रतीत होना

टेन्‍डन इंज्यूरी या टेनडेंटाइटिस:इस में प्रकट होने वाले लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं; 
असहनीय दर्द होना और चलने –फिरने, कूदने और सिढियां चढने में परेषानी होना 
एक या दोनो घुठने में दर्द और सूजन होना 

पंव को पूरा फैलाने या मोड़ने में घुठने में दर्द होना

थ्मनिसकस इंज्यूरी: इस तरह के इंज्यूरी के संकेत और लक्षण; 
दर्द 
सूजन 
घुठने से पांव को पूरा फैलाने और मोड़ने में परेषानी होना 

घुटना जाम होने जैसा महसूस होना

बरसाइटिस: बरसाइटिस के संकेत और लक्षण 
घुठनों और उसके आस–पास का त्वचा लाल होना, जलन, सूजन होना 
दर्द और एंठन होना 
घुठनों के बल बैठने और सीढियां चढने उतरने से दर्द में वृद्धि होना 

ब्रसा के संक्रमित होने पर घुठने में दर्द ,सूजन और बुखर लगना

सेप्टिक अर्थराइटिस:  घुठने में संक्रमण के लक्षण और संकेत के रूप् में मरीज को बुखार लगना,घुठने में दर्द, सूजन और त्वचा लाल पड़ जाता है। 
अर्थराइटिस: किसी भी प्रकार के अर्थराइटिस  के दर्द के लक्षणों के तरह इसमें निम्न लक्षण प्रकट हो सकते है; 
दर्द 
सूजन 
जोड़ों में दर्द और एंठन 
जोड़ों के मूवमेंट में कमी 
घुठने के मोड़ने और फैलाने के गति कम हो जाना 

जांच और निदान

घुठने के दर्द के कारणों के ढेर सारी संभावनाएं होने के कारण इसके पक्के और वास्तविक कारणों की पहचान करना काफी मुश्‍किल हो जाता है। इसमें किसी एक या दो जांच कराकर बीमारी का पता लगा पाना काफी मुश्‍किल भरा काम होता हैं, इसमें डॉक्टर रोग निदान के लिए मरीज के पूरे मेडिकल हिस्टरी का अध्ययन और घुटने के फिजिकल जांच के साथ–साथ लैबोरेटरी जांच करवाने के बाद ही किसी निष्‍कर्ष पर पहुंच पाता है। मेडिकल हिस्टरी में दर्द के स्थान, समय और तीव्रता आदि के बारे में मरीज से सवाल पूछा जा सकता है।