दाँत दर्द क़े लिए कारगर उपचार

दाँत दर्द क़े लिए कारगर उपचार

दाँत दर्द क़े लिए कारगर उपचार

10 ग्राम बायविडंग और 10 ग्राम सफेद फिटकरी थोड़ी कूटकर तीन किलो पानी में उबालें। एक किलो बचा रहने पर छानकर बोतल में भरकर रख लें। तेज दर्द में सुबह तथा रात को इस पानी से कुल्ला करने से दो दिन में ही आराम आ जाता है। कुछ अधिक दिन कुल्ला करने से दाँत पत्थर की तरह मजबूत हो जाते हैं।

अमरूद के पत्ते के काढ़े से कुल्ला करने से दाँत और दाढ़ की भयानक टीस और दर्द दूर हो जाता है। प्रायः दाढ़ में कीड़ा लगने पर असहय दर्द उठता है। काढ़ा तैयार करने के लिए पतीले में पानी डालकर उसमें अंदाज से अमरूद के पत्ते डालकर इतना उबालें कि पत्तों का सारा रस उस पानी में मिल जाए और वह पानी उबाले हुए दूध की तरह गाढ़ा हो जाए। दाँत-दाढ़ दर्द में अदरक का टुकड़ा कुचलकर दर्द वाले दाँत के खोखले भाग में रखकर मुँह बंद कर लें और धीरे-धीरे रस चूसते रहें। फौरन राहत महसूस होगी।

फिटकरी को तवे या लोहे की कड़ाही या मिट्टी के पात्र में रखकर आग पर रखें। जब पानी का अंश जल जाए और फिटकरी फूल जाए तो तवे को आग पर से उतारकर फिटकरी को पीसकर बारीक चूर्ण बना लें। जितनी फूली फिटकरी का पावडर बने उसका 1/4 भाग पिसी हल्दी उसमें मिला लें व लकड़ी की सींख की नोक से दाँत के दर्द वाले स्थान पर या सुराख के भीतर धीरे-धीरे घुमाएँ या यह मिश्रण भर दें। एक या दो बार ऐसा करने के बाद शायद फिर प्रयोग करने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी, क्योंकि दर्द गायब हो चुका होगा।