दांतों की बीमारिय में रामबाण

दांतों की बीमारिय में रामबाण

सैंधा  नमक मैदे की तरह बारीक पीस कर कपड-छान कर लें । ध्यान रहे, रगड़े नहीं । ऐसा नमक दो ग्राम हथेली पर रख कर उससे चार गुना सरसों का तेल डाल  दें । फिर हथेली को टेढ़ी कर तेल की बूंदों से ऊँगली से मसूड़ों की हल्के-हल्के भली प्रकार मालिश रोजाना प्रातः करे । खून निकले तो निकले दीजिये । कुछ देर नमकीन तेल की मसूड़ों पर मालिश करते रहने के पश्चात् तेल-भीगा बचा नमक दातों-दाड़ों  पर लेप की तरह ऊँगली से लगा कर रगड़ कर फ़ौरन सादे या गुनगुने पानी से कुल्ली कर लें ।

कुछ दिन लगातार दन्त साफ़ करते रहने से दांतों का ठंडा, गरम और खट्टा लग्न समाप्त हो जाता हैं हिलते हुए दांत  मजबूत हो जाते है । कलि पपड़ी नहीं जमती । दंत साफ़ और मजबूत होते हैं । दांतों के  कीड़े नष्ट हो जाते हैं । दन्त का दर्द और मसूड़ों की सुजन और टीस  मिट जाती हैं तथा फुले मसूड़ों से खून निकलना बंद हो जाता हैं निरंतर एसा करने से पायरिया नष्ट हो जाता हैं