हेल्दी स्किन

हेल्दी स्किन

हेल्दी स्किन

यदि आपकी त्वचा तैलीय या सामान्य है , तो इस ठंडे मोसम का उस पर विशेष प्रभाव नहीं पडेगा , पर रूखी या शुष्क है , तो आपको इस मोसम में अतिरिक्त देख – रेख की जरूरत पड़ेगी ही । इस दिनों ठंडी हवाओं से त्वचा फट जाती है या शुष्क हो जाती है । सबसे ज्यादा चेहरे की त्वचा ही प्रभावित होती है । त्वचा की नमी बनाए रखना मुश्किल नहीं है । आप मोसम के अनुसार फेशियल करके इसे मोसम के कुप्रभावों से बच सकती है । इन दिनों फेशियल कैसे करें और किन चीजों का इस्तेमाल करें ,

चलिए जानते है …

सबसे पहले चेहरे की त्वचा को क्लींजिंग मिल्क से साफ करके पानी से धो लें । अब बराबर मात्रा में ग्लिसरीन और गुलाब जल मिलाकर उससे चेहरे की हल्की मालिश करें । गर्दन की हल्की मालिश पर हाथ थोड़े सख्ती से ऊपर की तरफ चलाएं । ठोडी की मालिश हाथों को बाहर ले जाते हुए करें ।

गालों पर गोलाई से मालिश करते हुए हाथ नीचे से ऊपर की और ले जाएं । इस प्रक्रिया से रक्त संचार बढेगा और गलों का गुलाबीपन बना रहेगा । ललाट या माथे पर मालिश करते समय लेफ्ट से राइट की तरफ हाथों को थोड़ा टेढा करके चलाएं । आँखों की नजाकत का ध्यान रखते हुए उँगलियों को गोलाई से इस तरह घुमाएं की ग्लिसरीन आँखों में न जाने पाएं , क्योंकी आँखों में यह जलन पैदा कर सकती है ।

ग्लिसरीन की मालिश होठों केलिए सर्दियों में जरूरी है । इससे सूखी त्वचा नाम हो जाती है और फेट होठों को राहत मिलती है । होठों की मालिश एक बार बाई और फिर एक बार दाई ओर से करें । नाक के लिए भी यह बेहतरीन मसाज है । इससे नाक की कठोर त्वचा भी मुलायम होकर चमकने लगेगी ।

सर्दियों में केवल यह मसाज दिन में समय मिलने पर दो – तीन बार आपने कर ली तो आपकी त्वचा की चमक देखने लायक होगी और इसका असर त्वचा पर स्थायी होगा ।

इन दिनों लगने वाले फेस पैक भी थोड़े अलग होते है । सबसे अच्छा पैक लाल चंदन के पाउडर का माना जाता है ।इसमें ताजी मलाई इतनी मात्रा में मिलाएं की गढ़ा पेस्ट बन जाए ।इस पेस्ट को नीचे से ऊपर की ओर गोलाई में हाथ चलाते हुए गर्दन और पूरे चेहरे पर लगाएं । पंद्रह – बीस मिनट बाद हल्के गरम पानी से धो लें । इससे त्वचा का रूखापन दूर हो जाएगा ।

शुष्क त्वचा होने पर बादाम के तेल में नींबू के रस की दो – तीन बूंद डालें और चंदन का पाउडर मिक्स करें । इसे चेहरे पर लगाएं । पांच – सात मिनट बाद हल्के हाथों से रगड़ते हुए उतार लें और हल्के गरम पानी से चेहरा धो लें । बादाम का तेल न हो तो मलायुक्त दूध भी काम में ले सकते है । इससे त्वचा की कोमलता बढ़ेगी और साथ ही सांवलापन भी ख़त्म होगा ।

त्वचा के तैलीय होने पर शहद में बेसन मिलाकर हल्के हाथों से चेहरे पर मलें और बाद में धो लें ।बेसन अतिरिक्त तेल को ख़त्म करेगा और शहद त्वचा के ढीलेपन को ख़त्म करके कसाव लाएगा । त्वचा की चमक भी शहद बनाए रखेगा ।

आप अधिक देर धूप में रहते है , तो रंगत पर असर होती ही है । ऐसी त्वचा पर कच्छा दूध और नीबू का रस रूई में लेकर धीरे – धीरे मलें । इससे त्वचा अपने असली रंग में आ आएगी । फिर पैक इस्तेमाल करें ।

समय न होने पर बादाम , जैतून , तिल या सरसों के तेल से मालिश करके हल्के गरम पानी में भिगोए निचुड़े तैलिए से त्वचा पर शुष्क हवावों का असर नहीं होगा और वह चिकनी व मुलायम बनी रहेगी ।

कई बार हम साधारण सी बीमारी में भी घबरा जाते हैं लेकिन अगर हमें थोड़ा भी घरेलू नुस्खों के बारे में पता हो तो आसानी से तुरंत इलाज किया जा सकता है। दादी-नानी के खजाने से हम लेकर आए हैं ऐसे ही कुछ खास लाजवाब सरल-सहज नुस्खे, जिन्हें अपना कर आप भी पा सकते हैं निरोगी काया। पेश है त्वचा को कील-मुंहासों और दाग-धब्बों से कैसे दूर रख सकते हैं, इसके आसान से घरेलू उपाय खास आपके लिए-

25 मिली ग्लिसरीन और 25 मिली शुद्ध गुलाब जल में 5 ग्राम सल्फर पावडर मिलाएं। इस लेप को रात में चेहरे के दाग-धब्बे, मुंहासे पर लगाकर छोड़ दें। सबेरे पानी से चेहरा धोएं। इस लेप से एक हफ्ते में आप एक्ने की प्रॉब्लम से निजात पा सकते हैं। बेहतरीन रिजल्ट पाने के लिए सप्ताह में 3 बार इसे लगाएं।

संतरे के 20 ग्राम सूखे छिल्के, 5 ग्राम सूखे नीम के पत्ते लें और इन्हें पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण में 5 ग्राम चूर्ण, चंदन चूर्ण और आटा मिलाएं। इस मिश्रण में 5 मिली बादाम तेल और इतनी ही मात्रा में तिल का तेल मिलाएं। अब इस उबटन को रातभर चेहरे पर लगाए रखें और सबेरे पानी से धो दें। इस उबटन को हफ्ते में 3-4 बार लगाएं।

गुलाब पत्तियों, सेना, नीम, तुलसी और कासनी की 3 ग्राम (प्रत्येक) पत्तियों को उबालें। इस मिश्रण को छानकर इसमें चीनी मिलाएं। इस मिश्रण को छानकर इसमें चीनी मिलाएं। इस मिश्रण को हर रात सोने से पहले पिएं और आपको 15 दिनों में ही फर्क दिखाई देने लगेगा।