Health Tips

हिचकी (Hiccup)

हिचकी (Hiccup)

हिचकी (Hiccup)   परिचय: हिचकी का रोग किसी भी व्यक्ति को तब होता है जब उनके शरीर की तंत्रिकाएं उत्तेजित होकर जरूरत से ज्यादा सिकुड़ जाती हैं।   हिचकी को ठीक करने के लिए प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार-   जब हिचकी आए तो उस समय एक गिलास गर्म पानी पीने से यह रोग ठीक हो …

हिचकी (Hiccup) Read More »

हकलाना तथा तुतलाना

हकलाना तथा तुतलाना (Stammering and lisping)

हकलाना तथा तुतलाना (Stammering and lisping)   परिचय: हकलाने या तुतलाने का रोग अधिकतर नाड़ियों में किसी प्रकार से दोष उत्पन्न होने के कारण होता है। यह रोग उन व्यक्तियों को भी हो जाता है जो एक हकलाने वाले व्यक्ति की नकल करते रहते हैं।   हकलाने तथा तुतलाने के लक्षण:  बोलते समय ठीक तरह …

हकलाना तथा तुतलाना (Stammering and lisping) Read More »

फोड़ा (Absess)

फोड़ा (Absess)

फोड़ा (Absess)   परिचय: इस रोग के कारण रोगी व्यक्ति के शरीर पर बड़े-छोटे दाने निकल जाते हैं जिनमें पीब तथा मवाद भरी रहती है। इस रोग के कारण फोड़े में गांठ भी पड़ जाती है तथा कुछ दिनों के बाद ये गांठ मुलायम पड़ जाती है तथा उसमें पीब और दूषित रक्त भर जाता …

फोड़ा (Absess) Read More »

सूखा रोग (Rickets)

सूखा रोग (Rickets)

सूखा रोग (Rickets)   परिचय: सूखा रोग (रिकेटस) अधिकतर गरीब व्यक्तियों को होता है तथा इस रोग से ज्यादातर छोटे बच्चे ग्रस्त होते हैं। इस रोग को कुपोषण जन्य रोग भी कहते हैं।   सूखा रोग होने का लक्षण: जब किसी छोटे बच्चे को सूखा रोग (रिकेट्स) हो जाता है तो उसमें चिड़चिडापन, मांसपेशियां ठंडी …

सूखा रोग (Rickets) Read More »

सूजन (Oedema)

सूजन (Oedema)

सूजन (Oedema)   परिचय: सूजन से पीड़ित रोगी के हाथ, छाती, चेहरे, पैर, पेट या शरीर के कई अंगों पर एक साथ सूजन आ जाती है। जिसके कारण रोगी व्यक्ति को बहुत अधिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है।   सूजन होने के कारण: सूजन का रोग शरीर में दूषित द्रव के जमा हो जाने …

सूजन (Oedema) Read More »

तेज प्यास (Excessive thirst)

तेज प्यास (Excessive thirst)

तेज प्यास (Excessive thirst)   परिचय: यह एक प्रकार का ऐसा रोग है जिसमें रोगी व्यक्ति को बहुत अधिक प्यास लगती है। रोगी व्यक्ति जितना भी पानी पीता है उसे ऐसा लगता है कि उसने बहुत ही कम पानी पिया है और वह बार-बार पानी पीता रहता है।   तृषा रोग के (तेज प्यास) लक्षण- …

तेज प्यास (Excessive thirst) Read More »

बिच्छू का जहर

बिच्छू का जहर (Poison of scorpion)

बिच्छू का जहर (Poison of scorpion)   परिचय: यदि किसी व्यक्ति को बिच्छू ने डंक मार दिया है तो वह व्यक्ति तड़पने लगता है तथा शरीर में डंक मारे स्थान पर तेज जलन होने लगती है। इस रोग का इलाज प्राकृतिक चिकित्सा से किया जा सकता है।   प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार:   शरीर में …

बिच्छू का जहर (Poison of scorpion) Read More »

सर्पदंश

सर्पदंश (Snake bite)

सर्पदंश (Snake bite) परिचय: जब किसी व्यक्ति को सांप काट लेता है तो सांप का जहर उस व्यक्ति के शरीर में फैलने लगता है जिसके कारण रोगी की मृत्यु हो जाती है।   प्राकृतिक चिकित्सा के अनुसार उपचार- जैसे ही किसी व्यक्ति को सांप काट लेता है उसे सांप के काटे हुए स्थान के ऊपर …

सर्पदंश (Snake bite) Read More »

नाड़ी दुर्बलता

नाड़ी दुर्बलता (Nervous Weakness)

नाड़ी दुर्बलता (Nervous Weakness)   परिचय: जब किसी व्यक्ति नाड़ी दुर्बलता का रोग हो जाता है तो उसे नींद बहुत आती है तथा उसकी पाचनक्रिया खराब हो जाती है जिसके कारण उसको भूख नहीं लगती है तथा खाया हुआ खाना ठीक से पचता नहीं है। रोगी का शरीर गिरा-गिरा सा रहता है तथा उसे यौन …

नाड़ी दुर्बलता (Nervous Weakness) Read More »

नाभिचक्र का अपने स्थान से हटना

नाभिचक्र का अपने स्थान से हटना (Navel displace)

नाभिचक्र का अपने स्थान से हटना (Navel displace)   परिचय: मनुष्य के शरीर के विकास, नियंत्रण तथा संचालन में नाभि महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। माता के पेट में गर्भाधारण के समय से लेकर मृत्यु तक नाभि केन्द्र सतर्क, सक्रिय तथा सजग रहता है। माता के गर्भ के समय में नवजात शिशु का नाभि केन्द्र ही …

नाभिचक्र का अपने स्थान से हटना (Navel displace) Read More »

कई प्रकार के जहरीले कीड़े-मकोड़ों के डंक

कई प्रकार के जहरीले कीड़े-मकोड़ों के डंक (Sting of several kinds of poisonous insects)

कई प्रकार के जहरीले कीड़े-मकोड़ों के डंक (Sting of several kinds of poisonous insects)   परिचय: कई प्रकार के कीड़े-मकोड़ों के डंक लग जाने पर व्यक्ति को डंक लगे स्थान पर बहुत अधिक जलन तथा दर्द होता है। डंक लग जाने के कारण रोगी व्यक्ति को बहुत अधिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है।   प्राकृतिक …

कई प्रकार के जहरीले कीड़े-मकोड़ों के डंक (Sting of several kinds of poisonous insects) Read More »

शीघ्र बुढ़ापा

शीघ्र बुढ़ापा (Old age befo re time)

शीघ्र बुढ़ापा (Old age befo re time)   समये से पहले ही बूढ़ा होने से बचने के लिए उपचार:-   लगभग 10 ग्राम गेहूं का चोकर लेकर एक प्याला पानी में डालकर उबाल लें। फिर इसे छानकर इसमें 2 बादाम की गिरी को घिसकर मिला लें तथा इसमें दूध और मिश्री डाल लें। फिर इसका …

शीघ्र बुढ़ापा (Old age befo re time) Read More »

कान के रोग

कान के रोग (Ear Diseases)

कान के रोग (Ear Diseases)   परिचय:आज के समय में विभिन्न प्रकार के प्रदूषण वातावरण फैल रहे हैं जिनमें से आवाज का प्रदूषण मनुष्यों को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। वैसे देखा जाए तो कान के रोग अक्सर शरीर में खून के दूषित हो जाने की वजह से हो जाते हैं। कान के रोग कई …

कान के रोग (Ear Diseases) Read More »

कैंसर

कैंसर (Cancer)

कैंसर (Cancer)   परिचय: कैंसर एक बहुत ज्यादा खतरनाक बीमारी है। यह शरीर के किसी भी भाग में एक गांठ के रूप में दिन-प्रतिदिन बढ़ने वाली बीमारी है। जब तक इस रोग के होने का लक्षण पता चलता है तब तक तो यह बीमारी शरीर में बहुत ज्यादा फैल चुकी होती है। यदि कैंसर रोग …

कैंसर (Cancer) Read More »

लकवा (Paralysis)

लकवा (Paralysis)

लकवा (Paralysis)   परिचय: मस्तिष्क की धमनी में किसी रुकावट के कारण उसके जिस भाग को खून नहीं मिल पाता है मस्तिष्क का वह भाग निष्क्रिय हो जाता है अर्थात मस्तिष्क का वह भाग शरीर के जिन अंगों को अपना आदेश नहीं भेज पाता वे अंग हिलडुल नहीं सकते और मस्तिष्क (दिमाग) का बायां भाग …

लकवा (Paralysis) Read More »

क्षय रोग (टी.बी.) (Tuberculosis)

क्षय रोग (टी.बी.) (Tuberculosis)

क्षय रोग (टी.बी.) (Tuberculosis)   परिचय: क्षय रोग को हिन्दी में राज्यक्ष्मा और टी.बी. कहते हैं तथा एलोपैथी में इसे ट्यूबरक्लोसिस कहा जाता है। इस रोग के हो जाने पर रोगी व्यक्ति का शरीर कमजोर हो जाता है। क्षय रोग के हो जाने पर शरीर की धातुओं यानी रस, रक्त आदि का नाश होता है। …

क्षय रोग (टी.बी.) (Tuberculosis) Read More »

मोच (Strain)

मोच (Strain)

मोच (Strain)   परिचय: जब किसी व्यक्ति को अचानक चोट लग जाती है या किसी झटके के कारण उसकी पेशी तन जाती है या किसी दुर्घटना के कारण व्यक्ति की हडि्डयों के जोड़ों में दर्द होने लगता है तो इस अवस्था को मोच कहते हैं। हडि्डयों के बन्धन या झिल्लियों के फट जाने से जोड़ों …

मोच (Strain) Read More »

घुटनों का दर्द (Knee pain)

घुटनों का दर्द (Knee pain)

घुटनों का दर्द (Knee pain)   परिचय: कोई भी रोग बिना किसी कारण के नहीं होता है। जब कोई मनुष्य प्रकृति के नियमों के साथ छेड़छाड़ करता है तो उसे कोई न कोई रोग हो जाता है। यदि किसी व्यक्ति के खान-पान का तरीका गलत हो, धूम्रपान और मदिरापान जैसी नशीली चीजों का सेवन करता …

घुटनों का दर्द (Knee pain) Read More »

गठिया (Rheumatism)

गठिया (Rheumatism)

गठिया (Rheumatism)   परिचय: मनुष्यों के शरीर के कई भाग होते हैं तथा उम्र के अनुसार गठिया रोग कई प्रकार का होता है-   ऑस्टियो आर्थराईटिस- इस प्रकार का गठिया रोग उम्र के बढ़ने के साथ होने वाला एक सामान्य रोग है जो हडि्डयों के जोड़ों के घिस जाने के कारण होता है। इस रोग …

गठिया (Rheumatism) Read More »

स्कर्वी

स्कर्वी (Scurvy)

स्कर्वी (Scurvy)   परिचय: जब किसी व्यक्ति को स्कर्वी रोग हो जाता है तो उसके मसूढ़ों से खून निकलने लगता है तथा उसके शरीर पर काले, नीले चकत्ते से पड़ने लगते हैं ये चकत्ते अधिकतर पैरों में पड़ते हैं। इसके अलावा इस रोग में रोगी व्यक्ति को चलने में दर्द होता है, उसके बाहरी अंगों …

स्कर्वी (Scurvy) Read More »